मंच पर सक्रिय योगदान न करने वाले सदस्यो की सदस्यता समाप्त कर दी गयी है, यदि कोई मंच पर सदस्यता के लिए दोबारा आवेदन करता है तो उनकी सदस्यता पर तभी विचार किया जाएगा जब वे मंच पर सक्रियता बनाए रखेंगे ...... धन्यवाद   -  रामलाल ब्लॉग व्यस्थापक

सोमवार, 28 मार्च 2011

रास्ता साफ है क्या...!!!!


गजोधर एक कंपनी में काम करते थे जहा पर उनकी ड्यूटी अक्सर रात की हुआ करती थी

एक रात गजोधर और उसकी पत्नी अपने बेडरूम में आराम से सो रहे थे,

और अचानक रात को दो बजे फोन की घंटी बजी...

दोनों की नींद खुल गई,

गजोधर ने फोन उठाया, इससे पहले कि वह कुछ कह पाता,

दूसरी तरफ से आवाज़ आनी शुरू हो गई, गजोधर सुनता रहा,

और अचानक चीखकर बोला, "साले, मैं क्या म्यूनिसिपैलिटी में काम करता हूं..."

जब चीख-चिल्लाकर गजोधर ने फोन पटक दिया,

पत्नी ने प्यार से पूछा, "कौन था, जानू...?"

गजोधर ने उखड़े सुर में जवाब दिया,

"पता नहीं, कौन कमीना था... साला, मुझसे पूछ रहा था, रास्ता साफ है क्या...?"

5 टिप्पणियाँ:

हा..हा..हा..नया वाला होगा..उससे इतना ही कहा गया होगा कि जाने से पहले पूछ लेना रास्ता साफ है क्या!

maza aa gaya...

mere blog par swagat hai

http://dadikasanduk.blogspot.com/

एक टिप्पणी भेजें

कृपया इन बातों का ध्यान रखें : -
***************************
***************************
1- लेख का शीर्ष अवश्य लिखें.
=====================================================
2- अपनी पोस्ट लिखते समय लेबल में अपना नाम अवश्य लिखें.
=====================================================
3- लेख की विधा जैसे व्यंग्य, हास्य कविता, जोक्स आदि लिखें.
=====================================================
4- तदुपरांत अपने पोस्ट/लेख के विषय का सन्दर्भ अपने-अनुसार लिखें.
=====================================================
*************************************************************
हास्य व्यंग ब्लॉगर्स असोसिएशन की सदस्यता लेने के लिए यहा क्लिक करे