मंच पर सक्रिय योगदान न करने वाले सदस्यो की सदस्यता समाप्त कर दी गयी है, यदि कोई मंच पर सदस्यता के लिए दोबारा आवेदन करता है तो उनकी सदस्यता पर तभी विचार किया जाएगा जब वे मंच पर सक्रियता बनाए रखेंगे ...... धन्यवाद   -  रामलाल ब्लॉग व्यस्थापक

शुक्रवार, 22 अप्रैल 2011

"क्या सभी मर गये थे ???"


नेताओं से भरी एक बस जा रही थी. अचानक बस रोड़ छोड़ कर नीचे खेत में एक
पेड़ से जा टकरायी.

एक बुढ़ा किसान जिसका वह खेत था दौड़ता हुआ आया. सब कुछ
देख उसने एक गड्ढा खोदना शुरू किया और फ़िर उसमे नेताओं को दफ़ना दिया.

कुछ दिन बाद स्थानीय प्रशासन को बस के एक्सीडेंट के बारे में पता लगा,
उन्होने किसान से पुछा की सारे नेता कहाँ गये.

किसान ने बताया की उसने सभी को दफ़ना दिया है..
"क्या सभी मर गये थे???" आश्चर्यचकित हो पुछा गया

किसान ने बताया " नही! कुछ कह रहे थे की वो नही मरे,
पर आप तो जानते ही है की ये नेता झुठ कितना बोलते है..."

10 टिप्पणियाँ:

सही कहा , नेता झूठ ही तो बोलते है .....

झूठा किसान,सच्चा निशान..!!

हा..हा..हा..!!

वाह ! सभी को दफ्न दिया , बढ़िया किया

नेताओ के साथ बढ़िया काम किया , झूठ बोलने का नतीजा भुगत ही लिया

क्या बात है ? बहुत अच्छा

एक टिप्पणी भेजें

कृपया इन बातों का ध्यान रखें : -
***************************
***************************
1- लेख का शीर्ष अवश्य लिखें.
=====================================================
2- अपनी पोस्ट लिखते समय लेबल में अपना नाम अवश्य लिखें.
=====================================================
3- लेख की विधा जैसे व्यंग्य, हास्य कविता, जोक्स आदि लिखें.
=====================================================
4- तदुपरांत अपने पोस्ट/लेख के विषय का सन्दर्भ अपने-अनुसार लिखें.
=====================================================
*************************************************************
हास्य व्यंग ब्लॉगर्स असोसिएशन की सदस्यता लेने के लिए यहा क्लिक करे