मंच पर सक्रिय योगदान न करने वाले सदस्यो की सदस्यता समाप्त कर दी गयी है, यदि कोई मंच पर सदस्यता के लिए दोबारा आवेदन करता है तो उनकी सदस्यता पर तभी विचार किया जाएगा जब वे मंच पर सक्रियता बनाए रखेंगे ...... धन्यवाद   -  रामलाल ब्लॉग व्यस्थापक

बुधवार, 27 अप्रैल 2011

दो और दो कितने होते हैं...


एक सरकारी कार्यालय में एकाउन्टेन्ट के पद के लिए एक उम्मीदवार का इंटरव्यू लिया जा रहा था...

परीक्षक ने पूछा : दो और दो कितने होते हैं...?

सवाल सुनकर उम्मीदवार उठा और आहिस्ते से कमरे का दरवाजा खोलकर बाहर झांका...

फिर उसने झुककर मेज के नीचे झांका... कहीं कोई न था...

फिर वह सारे खिड़की-दरवाजे बन्द कर परीक्षक के कान में फुसफुसाया :

कितने होते हैं, इसको मारिए गोली... आप बताइए सर, आप कितने करवाना चाहते हैं...?

उसे बिना और कोई सवाल पूछे नौकरी पर रख लिया गया.

14 टिप्पणियाँ:

..हा..हा..हा...वर्तमान पर सटीक कटाक्ष।

सटीक चित्रण किया है आज के भ्रस्ट माहौल का

सही मे सरकारी कर्मचारी की तरह ही बात की है , नौकरी तो मिलनी ही थी

बिलकुल सही बताया की दो और दो कितने होते है

सटीक चित्रण किया है आज के भ्रस्ट माहौल का| धन्यवाद|

सचमूच ऐसे लोग ही, प्रतिभा संपन्न उम्मीदवार के लिए, सारे खिड़की-दरवाजे बन्द करने का पून्यकार्य कर रहे हैं।

bahut hi umda joke, aaj kal sach much mein yehi haal hai sarkaari kaamon ka, bharshtachar har jagah paanv pasaar raha hai.. bahut khoob..
Please Visit My Blog for Hindi Music, Punjabi Music, English Music, Ghazals, Old Songs, and My Entertainment Blog Where u Can find things like Ghost, Paranormal, Spirits.
Thank You

धार्मिक मुद्दों पर परिचर्चा करने से आप घबराते क्यों है, आप अच्छी तरह जानते हैं बिना बात किये विवाद ख़त्म नहीं होते. धार्मिक चर्चाओ का पहला मंच ,
यदि आप भारत माँ के सच्चे सपूत है. धर्म का पालन करने वाले हिन्दू हैं तो
आईये " हल्ला बोल" के समर्थक बनकर धर्म और देश की आवाज़ बुलंद कीजिये...
अपने लेख को हिन्दुओ की आवाज़ बनायें.
इस ब्लॉग के लेखक बनने के लिए. हमें इ-मेल करें.
हमारा पता है.... hindukiawaz@gmail.com
समय मिले तो इस पोस्ट को देखकर अपने विचार अवश्य दे
देशभक्त हिन्दू ब्लोगरो का पहला साझा मंच
हल्ला बोल

सरकारी नौकर का सही चरित्र दिखाया था तो नौकरी तो मिलनी ही थी

एक टिप्पणी भेजें

कृपया इन बातों का ध्यान रखें : -
***************************
***************************
1- लेख का शीर्ष अवश्य लिखें.
=====================================================
2- अपनी पोस्ट लिखते समय लेबल में अपना नाम अवश्य लिखें.
=====================================================
3- लेख की विधा जैसे व्यंग्य, हास्य कविता, जोक्स आदि लिखें.
=====================================================
4- तदुपरांत अपने पोस्ट/लेख के विषय का सन्दर्भ अपने-अनुसार लिखें.
=====================================================
*************************************************************
हास्य व्यंग ब्लॉगर्स असोसिएशन की सदस्यता लेने के लिए यहा क्लिक करे